शीघ्र पतन – आपके लिए सम्पूर्ण जानकारी

अनेक जोड़ों के लिए, सेक्स एक गैरजटिल और प्राकृतिक गतिविधि है जो बस हो जाती है।

कुछ लोग सेक्स का आनंद हर रोज़ लेते हैं। जबकि अनेक जोड़ों के लिए यह इस तरह का है तो दूसरे जोड़े भी हैं जो यौन गतिविधियों को शुरु करने में कुछ समस्याओं का सामना करते हैं, विशेष रूप से तब, जब शारीरिक संबंधों की बात आती है।

क्योंकि प्राकृतिक यौन संबंध एक विशेष यौन क्रिया है जिसके लिए एक पुरुष और एक खड़े लिंग की जरूरत होती है, पुरुष के लिंग के खड़े होने में समस्या से शारीरिक संबंधों के आनंद में बाधा आ सकती है और दो या कुछ मामलों में एक पार्टनर असंतुष्ट होता है।

ऐसी अनेक समस्याओं हैं जो शयनकक्ष में किसी पुरुष की क्षमताओं को प्रभावित कर सकती हैं। उदाहरण के लिए ऊर्जा की कमीं, से पुरुष का स्टेमिना स्तर निम्न हो सकता है जो सेक्स के दौरान उनके प्रदर्शन को बाधित कर सकता है।

स्तंभन दोष, असंतोषजनक सेक्स का आम कारण है और कई मामलों में संबंधों में समस्याएं भी पैदा कर सकता है।

इस पोस्ट में हलांकि, हम पुरुषों में एक विशेष यौन समस्या पर फोकस करना चाहते हैं जिसको किसी पुरुष की सेक्स के दौरान पर्याप्त प्रदर्शन की क्षमता को प्रभावित करने वाली संभावित समस्याओं पर चर्चा के दौरान अक्सर नज़रअंदाज कर दिया है – शीघ्र पतन

पुरुषों में स्खलन संबंधी आम सबसे आम समस्याएं

हम इस पोस्ट में शीघ्र पतन पर चर्चा करेंगे, लेकिन पहले स्खलन संबंधी समस्याओं के उन तीन प्रकारों पर एक त्वरित दृष्टि डाल लेते हैं, जो पुरुषों में विकसित हो सकते हैं।

क्योंकि स्खलन को आम तौर पर सेक्स गतिविधि के दौरान सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है, पुरुष वीर्यपात को व्यक्त करना, स्खलन की समस्याएं किसी पुरुष के जीवन में अनेक प्रकारों से एक मुद्दा बन सकता है – विशेष रूप से बेडरूम में।

इससे पहले कि हम स्खलन से संबंधित समस्याओं के सबसे आम प्रकारों पर निगाह डालें, हम यह नोट करना चाहते हैं वोस्टन विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ मेडिसिन[1] के अनुसार, स्खलन संबंधी समस्याओं का केवल तब निदान होता है या उन पर सेक्स विकार के रूप में विचार किया जाता है जब आदमी को सेक्स संबंधों के दौरान लक्षणों का अनुभव होता है।

जब किसी स्खलन विकार के लक्षणों का हस्तमैथुन के दौरान अनुभव होता है तो इसे तकनीकि रूप से विशेष विकार के रूप में निदान का मान्य कारण नहीं माना जाता है।

लंबा और कठोर लिंग। यही तो औरतें चाहती हैं।

  • 3 घंटे तक नॉन-स्टॉप सेक्स
  • एक महीने में लिंग का साइज़ +5 सेमी बढ़ाएँ
  • अपनी कामेच्छा बढ़ाएँ Hammer of Thor से और सेक्स के लिए हमेशा तैयार रहें

शीघ्र पतन

स्खलन विकार का यह विशेष प्रकार है जिस पर हम इस पोस्ट में चर्चा करेंगे।

READ NEXT  भारत में थोर प्राइस का हथौड़ा

शीघ्र पतन एक विकार है जो किसी आदमी के बहुत जल्दी स्खलन बिंदु तक पहुंचने या स्खलित होने के संदर्भ में है, जब वह किसी महिला के साथ शारीरिक संबंध में लिप्त होता है।

इस समस्या के निदान के लिए को विशेष टेस्ट या विशिष्ट मानदंड नहीं होता है।

आम तौर पर किसी व्यक्ति को शीघ्र पतन से पीड़ित तब समझा जाता है यदि वह सेक्स के दौरान अपने पार्टनर और खुद को संतुष्ट किए बिना स्खलित हो जाता है।

विलंबित पतन

विलंबित स्खलन एक अन्य स्खलन विकार है जिससे पुरुष पीड़ित हो सकता है।

जबकि शीघ्र पतन, किसी व्यक्ति बहुत जल्दी स्खलित होने से संबंधित है, विलंबित पतन का संदर्भ किसी पुरुष के यौन संबंधों के दौरान स्खलित होने में बहुत अधिक समय लगाने से है।

पुनः इस समस्या के निदान के लिए कोई विशिष्ट मेडिकल मानदंड नहीं है। जब कोई व्यक्ति सेक्स के दौरान स्खलन बिंदु तक पहुंचने के लिए संघर्ष करता है या सामान्य अवधि के बाद स्खलित होता है; तो इससे उसे व उसके पार्टनर दोनो को पर्याप्त संतुष्टि नहीं होती है। तो वह विलंबित पतन से पीड़ित हो सकता है।

अवरोधित पतन

तीसरे प्रकार का स्खलन विकार वह होता है जिसमें पुरुष आम तौर पर अवरोधित पतन से पीड़ित होता है।

जैसा कि नाम बताता है, पतन का यह विशेष प्रकार ऐसी परिस्थिति से संबंधित है जहां पर पुरुष सेक्स के दौरान स्खलित नहीं हो पाता है – लगातार प्रेरण या भेदन के बावजूद।

शीघ्र पतन का विस्तार

शीघ्र पतन, इस पोस्ट को पढ़ने वाले बहुत सारे पुरुषों के लिए कुछ नया नहीं भी हो सकता है। यह समस्या किसी को और किसी भी समय हो सकती है।

स्तंभन दोष के विपरीत, जो पुरुषों को अधिकांशतः 40 की उम्र के बाद होता है, यह शीघ्र पतन दोष युवा लोगों के बीच काफी अधिक हो रहा है और किसी भी उम्र में हो सकता है।

क्योंकि शीघ्र पतन इतना आम है; इसलिए कभी-कभार ऐसा हो जाने पर पुरुषों को शीघ्र पतन होने पर बहुत अधिक ध्यान नहीं देना चाहिए।

जब शीघ्र पतन किसी पुरुष के सेक्स जीवन में एक समस्या हो जाता है; यह उस पुरुष के सेक्स को दौरान हर बार होता है विशेष रूप से यौन संबंधो के दौरान; तब इसे गंभीरता से लिया जाना चाहिए और इस पर ध्यान दिया जाना चाहिए।

मायो क्लीनिक[2] की रिपोर्ट के अनुसार सभी पुरुषों में से कम से कम 33% अपने जीवन के किसी ना किसी हिस्से में सेक्स के दौरान शीघ्र पतन (बहुत जल्दी) का शिकार हो जाते हैं।

इस बारे में कोई विशेष आंकड़ें उपलब्ध नहीं हैं कि इस स्थिति का अनुभव किसे होता है क्योंकि यह सभी उम्र व जातियों के पुरुषों को होता है।

शीघ्रपतन के प्रकार

शीघ्र पतन, एक विकार के रूप में, जो विभिन्न प्रकारों में वर्गीकृत किया जा सकता है[3]। निदान व उपचार के साथ पुरुष को होने वाले शीघ्रपतन के प्रकार पर विचार करना महत्वपूर्ण है।

READ NEXT  अत्यधिक हस्तमैथुन के साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

प्राथमिक शीघ्र पतन

प्राथमिक शीघ्र पतन भी जीवन भर के शीघ्र पतन के लिए एक शब्द है।

यह विशेष प्रकार का विकार उन लोगों के लिए है जिन्होने अपनी याद के अनुसार अपनी अधिकांश यौन गतिविधियों में समयपूर्व स्खलन ही किया है – यहां तक कि पहली बार के यौन संबंध में भी उनके साथ ऐसा हुआ होता है।

द्वितीयक शीघ्र पतन

द्वितीयक शीघ्र पतन को एक्वायर्ड शीघ्र पतन कहते हैं।

जैसा कि नाम बताता है, इस प्रकार का स्खलन प्रकार उन पुरुषों से संबंधित होता है जिन्होने सेक्स के दौरान, पार्टनर के साथ अपने पहले अनुभव में जल्दी स्खलन का अनुभव नहीं किया था लेकिन जीवन में बाद में यह स्थिति पैदा हो गयी।

शीघ्र पतन के संभावित कारण

जैसा कि हमने पहले नोट किया कि शीघ्र पतन किसी भी पुरुष को हो सकता है – विभिन्न जातियों के बीच अंतरों का कोई आंकड़ा उपलब्ध नहीं है।

सौभाग्य से मेडिकल विशेषज्ञ उन विशेष समस्याओं को पहचानने में सक्षम हुए हैं जो किसी पुरुष के लिए शीघ्र पतन के एक विकार के रूप में विकसित होने की संभावना को बढ़ाते हैं।

साइकोलॉजी टुडे[4] रिपोर्ट करती है कि अपनी संतुष्टि और अपने पार्टनर को संतुष्ट करने से पहले अपने स्खलन पर पहुंचने के लिए मनोवैज्ञानिक कारण जिम्मेदार होते हैं।

यदि स्तंभन दोष के चिह्न विकसित होने लग गए हों तो जैसे उदाहरण के लिए पुरुष को प्रदर्शन बेचैनी हो; इससे वह सेक्स के दौरान वेचैन हो जाता है।

इससे पुरुष इस सत्र से जल्दी से निकल जाना चाहता है; जिसके कारण सेक्स के शुरु होने के बाद जल्दी ही वह स्खलित हो जाता है। उसके प्रदर्शन से असंबंधित सामान्य बेचैनी भी समस्या पैदा कर सकती है और शीघ्र पतन का एक विशेष कारण हो सकती है।

इसके अलावा, कुछ पुरुषों को लगता है कि जब उनके संबंधों में समस्याएं होती है तो वे सेक्स के दौरान बहुत जल्दी स्खलित हो जाते हैं; यह काफी आम समस्या है जब पुरुषों को अपने वर्तमान संबंध में शीघ्र पतन का अनुभव होता है, लेकिन पिछले संबंध में यह उपस्थित नहीं था।

कुछ मनोवैज्ञानिक कारक शीघ्र पतन में योगदान कर सकते हैं।

असंतुलित हार्मोन स्तर; दिमाग में उपस्थित विभिन्न न्यूरोट्रांसमिटरों के स्तरों के साथ समस्याएं वे दो विशेष जीववैज्ञानिक कारण हैं जो शीघ्र पतन को पैदा करते हैं।

यह विकार उन समस्याओं के कारण भी हो सकता है जो इन जीनवैज्ञानिक कारणों के साथ थाएरॉएड सिस्टम में समस्याओं से होते हैं। यह नर्वस सिस्टम को कुछ क्षेत्रों में हानि पहुंचाता है, साथ ही यूरेथ्रा या प्रोस्टेट में सूजन की उपस्थिति भी कारण हो सकती है।

क्या शीघ्र पतन का उपचार प्रभावी रूप से किया जा सकता है?

शीघ्र पतन अक्सर वास्तविक मेडिकल रोग या स्थिति नहीं होती है; फिर भी काफी सारे पुरुष मेडिकल पेशेवरों से इस समस्या के समाधान हेतु सहायता के लिए सलाह लेते हैं।

READ NEXT  Thor’s Hammer | पुरुषों के लिए बिस्तर में मर्दानगी लाने वाले सप्लिमेंट

आज हालांकि, शीघ्र पतन को यौन विकार से जोड़ कर भी देखा जाता है; क्योंकि यह पुरुष की बेडरूम में क्षमता से संबंधित समस्या है। जब कोई व्यक्ति स्खलित होने वाला होता है तो वह सेक्स करना बंद कर सकता है; क्योंकि वह उसके बाद “मूड” में नहीं भी हो सकता है और काफी संभावना है कि स्खलन के बाद वह अपना स्तंभन खो बैठा हो।

अब, इसके अनेक उपचार विकल्प उपलब्ध हैं। कुछ मामलों में कोई मेडिकल पेशेवर किसी व्यक्ति को ऐसी तकनीके बता सकते हैं जिनको वे पहले घर पर देख सकते हैं; क्या वे बिना मेडिकल हस्तक्षेप के अपनी स्थिति का उपचार कर सकते हैं और अपना स्खलन विलंबित कर सकते हैं।

ऐसे मामले जहां पर ऐसे विकल्प संभावित विकल्प नहीं होते हैं; मेडिकल पेशेवर उस व्यक्ति की सहायता के लिए सेक्स के दौरान उसके स्खलन को विलंबित करने में सहायक मेडिकल हस्तक्षेप की पेशकश कर सकते हैं।

दो विशेष”घरेलू उपचार”[5]हैं जिनको पुरुष आजमा सकते हैं जिनसे उनके स्खलन में विलंब करने में सहायता मिल सकती है और उनके शीघ्र पतन को व्यवस्थित किया जा सकता है।

पहला स्टार्ट ऐंड स्टॉप तकनीक है। इसमें हस्तमैथुन और स्खलन से पहले रुकना शामिल है, फिर इस तकनीक को सप्ताह के कुछ बार दोहराया जा सकता है।

कई पुरुषों के लिए निचोड़ने की तकनीक भी प्रभावी होती है। यह पहली विधि से काफी मिलती-जुलती है लेकिन इसमें हस्तमैथुन को फिर से शुरु करने से पहले निचोड़ने की गतिविधि शामिल की जाती है।

जब ये तकनीकें काम नहीं करती हैं तो, कोई डॉक्टर ऐंटीडेप्रेसेंट दवा की पेशकश कर सकता है। शीघ्र पतन के उपचार के लिए, विभिन्न प्रकार के ऐंटीडेप्रेसेंट का सफल उपयोग किया जाता है।

मेन्स क्लीनिक इंटरनेशनल रिपोर्ट करता है कि ज़ोलोफ्ट, नुज़ाक और एनाफ्रैनिल जैसे विकल्पों द्वारा लगभग पांच से 10 मिनटों के विलंबित स्खलन को हासिल किया गया है।

निष्कर्ष जब शीघ्र पतन हो तो

शीघ्र पतन, दोनो पार्टनरों के लिए सेक्स ऐक्टिविटी से संतुष्टि हासिल करने से पहले सेक्स का समापन है। इससे संबंधों में समस्याएं पैदा हो सकती हैं और सेक्स के दौरान पुरुष आत्म संकोची व बेचैन हो सकता है।

ऐसी समस्याओं के उपचार के लिए, पुरुष अक्सर घर पर अपने समय के लिए सरल तकनीकों का उपयोग करते हैं; जिनसे सेक्स के दौरान स्खलन के लिए समय में विलंब का काम प्रभावी हो सकता है। कुछ मामलों में, दवाएं इस समस्या का उपचार प्रभावी रूप से करती है और पुरुषों और उनके पार्टनरों को संतुष्टि के लिए पर्याप्त समय उपलब्ध कराती हैं।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.