Green Coffee. वजन घटाने की दुनिया में क्रांति

क्या यह एक ऐसा पेय है जो बिना कठिन डाइटिंग और व्यायामों के बिना ही वजन कम करने में मदद करता है? या फिर यह एक आधुनिक कॉफी है जो सुपर स्टार्स और मॉडलों को फिट शरीर बरक़रार रखने में मदद करती है, जिसके चलते इसे औषधियों के समतुल्य रखा गया है? वजन घटाने के इस उपाय Green Coffee को आज़माने वाली सामान्य महिलाएं इसके बारे में क्या कहती हैं? उनकी टिप्पणियां काफी अलग हैं. तो आख़िरकार यह पेय है क्या? एक वास्तविक सहारा उन लोगों के लिए जो अपना वजन कम करना चाहते हैं या अधिक वजन से पीड़ित लोगों से रुपये कमाने का एक नया चोचला?

green coffee review in hindi

सामान्य या असामान्य?

जो लोग मानते हैं कि Green Coffee किसी “जादुई” पौधे से बनी कॉफ़ी है तो उन्हें इसमें निराशा होगी. हकीकत में, Green Coffee सामान्य बिना भूनेे गए बीजों से बनी कॉफ़ी है.

कॉफी बीन्स को भूनने से उनकी प्रकृति में कोई भी परिवर्तन नहीं आता है. यह पेय सामान्य ब्लैक कॉफी के समान ही होता है. यह पेय सामान्य टॉनिक के रूप में काम करता है और रक्तचाप को बढ़ाता है. Green Coffee में कैफीन की भी हल्की मात्रा होती है.

Green Coffee वजन घटाने में कैसे मदद करती है?

Green Coffee बीन्स में क्लोरोजेनिक एसिड होता है, जो आमतौर पर गर्म करने की प्रक्रिया में नष्ट हो जात है. यह एसिड वसा को तोड़ने के लिए ज़िम्मेदार होता है और यही एसिड रक्त द्वारा वसा के अवशोषण को भी रोकता है. इसके अलावा, क्लोरोजेनिक एसिड यकृत को वसा से सम्बंधित एसिड्स को संसाधित करने में भी मदद करता है.

Green Coffee के सबसे स्वास्थ्यकारी गुणों में से एक गुण है कि यह रक्त प्रवाह में इंसुलिन की मात्रा को कम कर देती है जिससे चयापचय की प्रक्रिया को बढ़ावा मिलता है. नतीजतन, वजन घटने की प्रक्रिया बहुत तेज हो जाती है. Green Coffee एक मूत्रवर्धक उत्पाद भी है. इसके अतिरिक्त, यह एक सामान्य टॉनिक के रूप में भी कार्य करता है. इसका ऊर्जा के स्तर को जल्दी से बहाल करने का गुण ब्लैक कॉफ़ी की तुलना में उतना कारगर नहीं है क्योंकि इसमें ब्लैक कॉफ़ी की तुलना में दो गुना कम कैफीन होती है. यह बात किसी से भी छिपी नहीं है कि जो लोग अपना वजन कम करने की कोशिश करते हैं उनमे अक्सर ऊर्जा की कमी रहती है. उनकी जीवन शैली में बदलाव और डाइटिंग भी थकान का कारण बनती है.

पोषण विज्ञान में इस सन्दर्भ में कोई सामान्य राय नहीं है. कुछ लोग वजन घटाने के लिए Green Coffee को ग्रीन टी के साथ पीने की सलाह देते हैं, या फिर कुछ लोग अदरक को भी एक बेहतर विकल्प मानते हैं. हालांकि, कुछ लोग कहते हैं कि यह असुरक्षित हो सकता है. और कुछ लोगों का मानना है कि अगर आप सिर्फ हर दिन कुछ कप Green Coffee पियेंगे तो वजन अपने आप कम हो जायेगा, यह बात सही नहीं है. स्वस्थ भोजन ग्रहण करना और व्यायाम करना भी बहुत महत्वपूर्ण है, अन्यथा आप पहले जला चुके मोटापे को बहुत जल्द ही वापस पा लेंगे.

order green coffee

Green Coffee लेने के दो विकल्प हैं. ताजा बीन्स पीस लें या वजन घटाने की गोलियां ले लें.

  • १. कॉफी बीन्स का उपयोग करने से पहले उन्हें कुछ दिनों के लिए सुखा लिया जाना चाहिए. उसके बाद उन्हें एक ग्राइंडर में डालें और हल्का दरबरा पीसें, इसे बहुत महीन न करें. अब परिणामी मिश्रण को सामान्य कॉफी की तरह कॉफ़ी पॉट या किसी मज़बूत कप में बनायें. कॉफ़ी को उबलने के बाद ठंडा करें और इसे कप में फ़िल्टर कर दें. आपको गहरा हरा या जैतून के रंग जैसा पेय पदार्थ प्राप्त होगा. इसमें चीनी बिलकुल भी न मिलाएं. हालांकि, आप इसमें शहद की थोड़ी मात्रा मिला सकते हैं क्योंकि इस पेय का स्वाद काफी विशिष्ट होता है.
  • २. कैप्सूल या टैबलेट के प्रत्येक पैकेज में सेवन करने के तरीके का विवरण होता है जिसका एकदम सही से अनुसरण किया जाना चाहिए. अन्यथा, आप अपना वजन तो कम कर नहीं पायेंगे बल्कि अपनी चयापचय की प्रक्रिया को भी नुकसान पहुंचा देंगे. आम तौर पर इसकी खुराक शरीर के द्रव्यमान पर निर्भर करती है जो कि ४० किलो पर १ टैबलेट की होती है (लेकिन कृपया, कैप्सूल के पैकेज पर निर्दिष्ट निर्देशों को अवश्य पढ़ लें).

green coffe beans

Leave A Reply

Your email address will not be published.