वैरिकाज-वेंस को कैसे ठीक करें? क्या देशी उपचार मददगार होते हैं?

पैरों के निचले हिस्से में वैरिकाज़-वेंस एक पुरानी बीमारी होती है, जो खुद को फैली हुई नसों के रूप में प्रकट करती है जो कि गाँठ के जैसी प्रतीत होती हैं . वैरिकाज़ वेंस का एक मुख्य कारण वंशानुगत स्थानांतरण होना है, अत्यधिक कार्यभार या गतिहीन जीवन शैली भी इसके कारण बन सकते हैं. महिलाएं इस बीमारी से जल्दी ग्रसित हो जाती हैं, खासतौर से प्रसव के बाद. पुरुषों में, वैरिकाज़ वेंस असामान्य धमनी संचार के परिणामस्वरूप हो सकता है.

जब वैरिकाज़ वेंस के पहले लक्षण दिखाई देते हैं – दर्द, पैरों की सूजन और नसों में दिखाई पड़ने वाली गांठें पड़ने लगती हैं – ऐसे में किसी चिकित्सक को दिखाने की सलाह दी जाती है. परीक्षा और सटीक रोग-निर्णय के बाद, चिकित्सक इस बात को तय करेगा कि प्रत्येक विशिष्ट मामले में वैरिकाज़ वेंस का इलाज कैसे किया जाए.

रूढ़िवादी चिकित्सा

वैरिकाज़ वेंस की रूढ़िवादी चिकित्सा काफी विविधतापूर्ण है, और यह केवल इस रोग के लक्षणों को कम कर सकती है, लेकिन इसके कारण का इलाज नहीं कर सकती है.

आहार और संकुचन

ख़ास वैरिकाज़ वेंस के व्यायाम, जिन्हें कोई भी व्यक्ति घर पर कर सकता है उनका प्रमुख कार्य पैर की मांसपेशियों को मजबूत करना होता है, जो कि नसों के स्वास्थ्य को बरकरार रखने में मददगार होता है इन व्यायामों में सबसे प्रभावी हैं:

• साइकल चलाना: अपनी पीठ के बल लेटकर पैरों को बारी-बारी से गोल-गोल घुमाना.

• अपने पैरों से फर्श पर एक टेनिस या बेसबॉल गेंद को चलाना. इसमें अगर आप विशेष मसाज़ गेंद का उपयोग करते हैं, तो अपने सूक्ष्म परिसंचरण में सुधार कर सकते हैं.

• पैरों की उंगलियों के बल खड़ा होना पैरों के लिए बहुत अच्छी कसरत होती है, जो कि वैरिकाज़ वेंस को कम करती है.

• किकबोर्ड के साथ तैरने से पैर की सभी मांसपेशियां उत्कृष्ट आकार में कम से कम मेहनत में आ जाती हैं.

 

साइकल चलाना

अतिरिक्त वजन कम करने के लिए ख़ास तौर पर बनाये गये आहार में, प्लांट फाइबर की उच्च मात्रा होगी वहीं एनिमल फैट और कार्बोहाइड्रेट की सीमित मात्रा होगी. यह आपके पैरों के मोटापे को कम करेगा और इसे वैरिकाज़ वेंस के सफ़ल घरेलू उपचार के रूप प्रयोग में लाया जा सकता है.

वैरिकास के लिए संकुचन के स्तर पर कम्प्रेशन स्टॉकिंग और मोजे भिन्न होते हैं. इसे घर पर ठीक से लगाने के लिए लोगों को अक्सर विशेष उपकरणों का उपयोग करना पड़ता है. उन्हें पूरे दिन इन्हें पहन कर रहना होता है और रात में ही उतारना होता है. इसकी सफ़लता मुख्यतया पैरों की वैरिकाज़ वेंस पर पड़े बाहरी दबाब और रक्त के बहिर्वाह के सुधार पर आधारित होती है. चिकित्सकीय कम्प्रेशन मोजों की जगह पर आप वैकल्पिक रूप से इलास्टिक बैंडेज का भी उपयोग कर सकते हैं, जिसे पैरों की उंगलियों की शुरुआत से एड़ी सहित जांघ के बीच तक लपेटा जाना चाहिए. लपेटने में इस बात का ख़ासा ख्याल रखना है कि प्रत्येक नया मोड़ पिछली बार के मोड़ को कम से कम आधा ढकता है.

नीमो-मसाज डिवाइस में वायु के दबाब से फूले हुए कफ होते हैं. यह वैरिकास वेंस रोग के प्रारंभिक चरण में उपचार में सहायक हो सकता है. यह विधि कम्प्रेशन का उपयोग करती है, जिससे रक्त परिसंचरण में सुधार होता है और सूजन कम हो जाती है. आप इस डिवाइस का घर पर उपयोग कर सकते हैं.

औषधि चिकित्सा

दवाओं के मुख्य वर्गों में शामिल हैं:

• वेनोटोनिक्स (एंटिस्टैक्स, फ्लेबोडिया ६००) नसों की टोन में सुधार, सूजन से राहत और पेरीफेरल रक्त के बहिर्वाह में सुधार.

• ड्रग्स जो सूक्ष्मपरिसंचरण में सुधार लाते हैं (डिट्रैलेक्स, ट्रेंटल) वे गोली के रूप में या ड्रिप में प्रभावी होते हैं.

• थक्कारोधी तत्व रक्त के थक्कों की उपस्थिति को रोकते हैं. इसमें ख़ास मलहम आते हैं, जिनमें हेपरिन (लियोटन, ट्रॉम्बोफोब, वेनोलाइफ), कैरेंटिल, एस्पिरिन आदि होते है.

• नॉन स्टेरिओडल एंटी-इन्फ्लैमेटरी ड्रग्स (डायक्लोफेनैक) वैरिकाज़ वेंस में दर्द और सूजन को कम करने के लिए प्रयोग में लाये जाते हैं.

संभव दुष्प्रभावों के चलते, किसी भी दवा के उपयोग के पहले डॉक्टर से परामर्श अवश्य कर लेना चाहिए.

Leave A Reply

Your email address will not be published.